जब कोई साथ न दें तब क्या करें? जब आप अकेले पड़ जाएं - Mr Mentor

अक्सर यह देखा गया है कि जो लोग दुनियां में सबसे अलग सोच रखते है या अपने समाज और समुदाय में अलग सोच रखते है उन लोगो को कोई साथ नहीं देता और जाने अनजाने अलग सोच वाले लोगों को बहुत डिप्रेशन में डाल देते है।

jab Koi sath na de tab kya kare

तब अलग सोच रखने वाले व्यक्ति में मन मे एक ही सवाल आता है जब कोई साथ न दें तब क्या करें? जब कोई व्यक्ति ऐसी परिस्थिति में रहता है तो उसका मन करता है कि अब जीने का कोई फायदा नहीं मरना ही उसे सबसे अच्छा ऑप्शन लगता है। मगर जरा रुको आप मे से ही एक मे भी हूँ मेने इस परिस्थिति को जिया है और जी रहा हूँ।

जब दुनियां में अकेले हों तब क्या करें?

जिन लोगो की सोच हटकर होती है वो हमेशा अकेले ही होते है कोई इन्हें समझता नहीं और न ही समझने की कोशिश करता है और अलग सोच की वजह से हमें लोगो से नफरत होने लगती है हम सोचते है कि सब अपने मतलब से ही मेरे पास आते है। 

जब कोई साथ न दें तब क्या करें ये सवाल आम है और इसका जबाब भी बहुत आसान जब दुनियां में अकेले हों तब क्या करें इसका जबाब पहले जान लीजिए।

जब आप दुनियां में अकेले हों तब सबसे अच्छा तरीका है कि आप अकेले न रहे आप सोच रहे होंगे ये कैसा जबाब है जी हां...
आपको अकेला रहना छोड़ना होगा मगर आप अपनी अलग सोच और अपने भविष्य के सपने को छोड़ भी नहीं सकते तो में आपको बता दूं कि दुनियां में कुछ ऐसे साथी है जो हर समय हमारा साथ दे सकते है।

खुद को खुद का सच्चा साथी बनाएं -

जी हां दोस्तो खुद को भी आप साथी बना सकते है और इसका सबसे अच्छा माध्यम है दर्पण जो आपको खुद से बात करने में मदद कर सकता है।
में आपको बता दूं आप खुद से बात अकेले में ही करें वर्ना दुनिया तुम्हे पागल घोषित करने में ज्यादा समय नहीं लगाएगी। 

खुद से बात करने के फायदे :-

  • ‌आप अपने आप मे एक अलग ही शक्ति महसूस करेंगे ये पूरी तरह आपके दिमाग पर निर्भर है कि वो पॉजिटिव होगी या नेगेटिव।
  • ‌जब आप खुद से बात करना शुरू करोगे तो आपको किसी भी कठिन समय मे रास्ता मिल ही जायेगा.
  • ‌आप किसी भी जाति समुदाय से हो आपको श्रीमद भागवत गीता का   पाठ करना चाहिए क्योंकि ये किसी धर्म विशेष के लिए नहीं है और ये मनुष्य को दुनियां की सच्चाई बताती है साथ मे अकेले ही सत्य के मार्ग पर कैसे चले ये भी सिखाती है।
  • ‌जब आप खुद से बात करेंगे तो आप दृण निश्चय को धारण करेंगे किसी भी कठिन मंजिल को पाने के लिए दृणनिश्चय की बहुत जरूरत होती है।

किताबों को अपना साथी बनाएं :-

किताबें सबसे अच्छी साथी होती है आप आपकी मानसिकता कुछ भी हो ये बिना किसी सवाल के बस आपको ज्ञानी बनाती जाती है और जब आप किताबों को साथी बनाओगे तो आज नहीं तो कल आप एक महान स्थान को प्राप्त करोगे। इसमें ध्यान रखने वाली बात ये है कि आप अच्छे लेखकों की किताब पढ़ें पुराने समय से ही किताबों के जरिये लोग भ्रम ओर प्रोपेगेंडा फैलाते आ रहे है।
इसीलिए आपको अपने मन मस्तिष्क को बहुत पॉवरफुल बनाना पड़ेगा वो कैसे आगे बताते है।

श्रीकृष्ण को बनाये साथी :

अगर आप दुनिया मे अकेले है आपका कोई साथ नहीं देता तो आप क्या करें ये मत सोचो योगिराज श्रीकृष्ण को अपना साथी बनाओ बो क्यों चलो बताते है:

यहां पर में आपको भक्त बनने को नही कह रहा साथी बनाने को बोल रहा हूँ और दोनों में फर्क है भी और नहीं भी।

मानव इतिहास में श्री कृष्ण ही वो है जिन्होंने लिखित में दुनियां में जीने का सही तरीका बताया और अपनी भागवत गीता में दुनियां की सब बुराई पर विजय प्राप्त करने का मंत्र दिया। 

जब आप श्रीकृष्ण को अपना साथी बनायेगे तो आपका दिमाग आपको कभी गलत रास्ते पर नही  जाने देगा और दुनियां में आपका स्थान सबसे अलग होगा।

इतिहास में ऐसे बहुत सारे लोग हुए जिन्होंने श्रीकृष्ण को अलग अलग रूप में साथी बनाया और खुद भी महान बन गए मीरा, रैदास ऐसे बहुत नाम है।

संकट मोचन हनुमान को बनाये अपना साथी।

यहां पर में एक बात साफ साफ कहना चाहता हूं आप किसी भी जाति या धर्म से हो कोई फर्क नहीं पड़ता आप श्री हनुमान जी को अपना साथी बना सकते है।
यहां पर आपको भक्ति नहीं करनी है में आपसे साथी बनाने की बात कर रहा हूँ।

आपको बस अपने आस पास ऐसा वातावरण बनाना होगा जो हनुमान जी को पसंद आये तो वो आपके साथ आये।
आपको पता न हो तो बता दूं हनुमान जी को जिरंजीवी होने का वरदान है और सभी देवी देवताओं में एक हनुमान जी ही है जो आपको असली में होने का अनुभव भी करा सकते है तो और ये आपकी मेन्टल हेल्थ और वेल्थ सब ठीक कर देंगे।

अपने सपने को बनाये साथी :-

अगर ऊपर के साथी उपाय आपको समझ नही आते इन सब पर आपको भरोसा नहीं है तो यकीन मानो तुम अकेले रहने लायक ही हो।
मगर फिर भी आपके लिए एक उपाय है कि आप अपने जिंदगी के लक्ष्य को अपना साथी बना सकते हो अगर आप बस अपने लक्ष्य के पीछे ही रहोगे तो धीरे धीरे सफलता मिलेगी और पैसा आएगा और पैसा आएगा तो तुम अकेले नहीं रहोगे ये आजकल के मोटीवेशन स्पीकर की घुट्टी है जो ये रोज पिलाते है लोगों को तो आप भी पीओ हो सकता है असर हो जाये।

वो बात अलग है कि कुछ लोगो को न लक्ष्य का पता है और न उसको हासिल कैसे करना है ये पता है।

इस पोस्ट में जो कुछ भी लिखा है मेरा अपना अनुभव है और बहुत परेशान होकर मेने खुद जहर पी लिया था मगर डायरेक्ट जहर पीने के पीने के बाद भी जिंदा रहा तो अब ये जिंदगी मेरी नहीं इसीलिये जिसने बचाया उसी के नाम कर दी।

मेने जिंदगी के बहुत कम समय मे बहुत कुछ सहा और देखा अनुभव किया और आज भी अपनी परेशानियों से लड़ रहा हूँ।

जैसे में सोचता हूँ वो आपने भी कभी सोचा होगा कि किसी को कुछ चीज आसानी से मिल जाती है और वही चीज हमे पाने में कितना मेहनत करना पड़ता है।

अगर आप भी यही सोचते हो वो बता दूं आजकल पानी के वर्तन प्लास्टिक के भी आते है जिन्हें बनाने में 2 से 5 मिनेट लगता है और एक वर्तन मिट्टी का भी होता है जिसे बनाने में काफी दिन की मेहनत लगती है दोनों में पानी भर जाता है मगर पानी के गुण बदल जाते है।

बाकी आपको ये हमारी पोस्ट कैसी लगी अगर पसंद आई हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें और अपनी राय हमें कमेंट में दें।

अगर आप हमारी Technology और online earning से संबंधित वीडियो देखना चाहते है तो Akash Raikwar और Mr.Mentor यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

एक टिप्पणी भेजें (0)
और नया पुराने